मोदी सरकार ने अगर समय से लॉकडाउन का फैसला नही लेती तो अभी 1 लाख मरीज होते देश में

New Delhi : कोरोना आपदा को लेकर शुक्रवार को राहतभरी खबर आई। नीति आयोग ने दावा किया है कि लॉकडाउन का निर्णय बहुत समय से लिया गया। अगर केंद्र सरकार ने लॉकडाउन का निर्णय लेने में लेट किया गया होता तो अभी करीब 1 लाख कोरोना मरीज होते। नीति आयोग के सदस्य डॉ वीके पॉल के मुताबिक, लॉकडाउन के पहले हफ्ते में देश में1251 मामले आए और इसका डबलिंग रेट 5.2 रहा। जबकि दूसरे हफ्ते के अंत में 4.2 के डबलिंग रेट के साथ 4421 मामले आए।तीसरे हफ्ते में 10,363 मामले आए और डबलिंग रेट 8.6 रहा। लॉकडाउन के बाद से हमारा डबलिंग रेट बदल गया। अगर लॉकडाउन जैसे उपायों को लागू करके संक्रमण का रेट नहीं रोकते तो आज हमारे देश में काफी नुकसान होता। आज हमारे यहां 23 हजार मामले हैं, अगर लॉकडाउन लागू नहीं होता तो 73 हजार केस होते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *